भीमराव अंबेडकर का जीवन काफी संघर्ष पूर्ण और प्रेरणादायक रहा है.

भीमराव अंबेडकर का जीवन काफी संघर्ष पूर्ण और प्रेरणादायक रहा है.

अंबेडकर साहेब ने भारत की स्वतंत्रता के बाद देश के संविधान के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

अंबेडकर साहेब ने भारत की स्वतंत्रता के बाद देश के संविधान के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

इन्होंने ना केवल पिछड़े वर्ग के अधिकारों के लिए लड़ाई की बल्कि यह एक समाज सुधारक भी थे

जिन्होंने पक्षपात और जाति व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाई.

जिन्होंने पक्षपात और जाति व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाई.

हर साल अंबेडकर जयंती 14 अप्रैल को मनाई जाती है

हर साल अंबेडकर जयंती 14 अप्रैल को मनाई जाती है

ऐसे में अंबेडकर जयंती के महत्व और इतिहास के बारे में पता होना जरूरी है

ऐसे में अंबेडकर जयंती के महत्व और इतिहास के बारे में पता होना जरूरी है